Friday, August 12, 2022

Agnipath Scheme Violence 250 Crore Loss Railways Case Filed Against 223 People – अग्निपथ योजना के खिलाफ हिंसा में रेलवे को हुआ 250 करोड़ का नुकसान, 223 लोगों पर केस दर्ज: सूत्र


अग्निपथ योजना के खिलाफ हिंसा में रेलवे को हुआ 250 करोड़ का नुकसान, 223 लोगों पर केस दर्ज: सूत्र

अभी तक इस मामले में 1752 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है. 

नई दिल्ली:

Agnipath Scheme Violence: अग्निपथ योजना को लेकर हुई हिंसा के दौरान पूर्व मध्य रेलवे, बिहार (East Central Railway, Bihar) को काफी नुकसान हुआ है. रेल मंत्रालय के आधिकारिक सूत्रों ने ये जानकारी दी. सूत्रों के अनुसार पूर्व मध्य रेलवे, बिहार का लगभग 250 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. जबकि अन्य जोन अभी भी मूल्यांकन कर रहे हैं. अभी तक रेल मंत्रालय की ओर से कोई ठोस आंकड़ा नहीं दिया गया है. वहीं अब तक अग्निपथ योजना हिंसा के मामले में 223 मामले दर्ज किए गए हैं और 1752 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है. 

यह भी पढ़ें

जानकारी के अनुसार आरपीएफ ने 136, जीआरपी ने 40 और स्थानीय पुलिस ने 47 मामले दर्ज किए हैं. साथ ही भारतीय रेलवे ने दर्जनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की पहचान की है. जो हिंसा भड़काने में शामिल थे और प्राथमिकी दर्ज की गई है. रेल मंत्रालय ने ऐसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को ब्लॉक करने के लिए आईटी मंत्रालय को पत्र भी लिखा है.

ये भी पढ़ें- Maharashtra Crisis : बागी 9 मंत्रियों से CM उद्धव ठाकरे ने छीना विभाग, पढ़ें- किसे मिला कौन सा विभाग?

बता दें कि इस योजना के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन किया गया था और इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कई रेलवे स्टेशन को अपना निशाना बनाया था. प्रर्दशन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने डिब्बे जला दिए थे और रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था. यहां तक की हिंसा के कारण रेलवे को कई सारे ट्रेनें भी रद्द करनी पड़ी थी. जिससे यात्रियों को काफी परेशानी हुई थी.

वहीं कांग्रेस ने अग्निपथ योजना को लेकर सरकार पर हमला तेज करते हुए रविवार को कहा कि मोदी सरकार सेना में भर्ती की यह नयी योजना लाकर युवाओं के भविष्य के साथ खेल रही है और उसे ”तुगलकी” फरमान वापस लेना चाहिए.

कांग्रेस के 20 वरिष्ठ नेताओं और प्रवक्ताओं ने कई शहरों में संवाददाता सम्मेलनों को संबोधित किया, जिसका शीर्षक ‘अग्निपथ की बात: युवाओं के साथ विश्वासघात’ था. इस दौरान उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे और युवाओं के बीच असंतोष का हवाला देते हुए योजना को वापस लेने की मांग की. कांग्रेस ने कहा कि वह ”बिना विचार-विमर्श के थोपी गई”, ”युवा विरोधी व राष्ट्र विरोधी” योजना के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन करेगी.

पार्टी प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस युवाओं के साथ खड़ी है और इस ‘‘तुगलकी फैसले” को तुरंत वापस लिया जाना चाहिए. (भाषा इनपुट के साथ)



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,430FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime