Wednesday, November 30, 2022

BJP Did Not Release Dues Of Sugarcane Farmers In Gujarat, UP: Aam Aadmi Party


बीजेपी ने गुजरात और UP  में गन्ना किसानों के बकाया जारी नहीं किये : आम आदमी पार्टी

प्रतीकात्‍मक फोटो

चंडीगढ़,:

आम आदमी पार्टी (AAP) ने मंगलवार को कहा कि आप किसान हितैषी और जनहितैषी पार्टी है, जबकि बीजेपी देश भर में अपने सत्तारूढ़ राज्यों में किसानों का शोषण करती रही है. आप के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कांग (Malvinder Singh Kang) ने यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भगवंत मान (Bhagwant Mann)  सरकार ने गन्ने के खरीद मूल्य में 20 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी कर किसानों के कल्याण के लिए एक और फैसला लिया है. अब गन्ना किसानों को 360 रुपये प्रति क्विंटल के मौजूदा मूल्य के मुकाबले 380 रुपये प्रति क्विंटल मिलेंगे. आप सरकार किसानों को लाभ पहुंचाने के इस निर्णय के साथ सालाना 200 करोड़ अतिरिक्त रुपये खर्च करेगी.

यह भी पढ़ें

दूसरी ओर, गुजरात में बीजेपी सरकार ने अभी तक लगभग 35 प्रतिशत गन्ना किसानों का बकाया नहीं चुकाया है, जबकि उत्तर प्रदेश में, जो कुल गन्ना उत्पादन में 50 प्रतिशत का योगदान देता है, बीजेपी सरकार ने राज्य में 13 प्रतिशत से अधिक गन्ना किसानों के भुगतान को मंजूरी नहीं दी है. उन्होंने कहा,“ यह बीजेपी के गुजरात मॉडल के खिलाफ अरविंद केजरीवाल के शासन के मॉडल के बीच का अंतर है. हम किसानों और समाज के हर वर्ग के कल्याण के लिए काम कर रहे हैं, जबकि बीजेपी केवल अपने झूठे दावों से लोगों को बेवकूफ बना रही है. ”कांग ने कहा कि अभी पंजाब में महज 1.25 लाख हेक्टेयर जमीन पर गन्ने की खेती होती है, हालांकि चीनी मिलों के पास गन्ने की पेराई क्षमता करीब 2.50 लाख हेक्टेयर है. सरकार किसानों को फसल विविधीकरण के लिए प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न पहल कर रही है और यही कारण है कि राज्य सरकार ने किसानों की आय के पूरक के लिए मूल्य बढ़ाने का फैसला किया है.

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी खेती को एक लाभदायक उद्यम बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है, मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सरकार बनाने के बाद कई किसान समर्थक फैसले लेने के अलावा छह महीने के भीतर गन्ना किसानों के सभी लंबित बकाया का भुगतान किया. सहकारी चीनी मिलों ने पहले ही किसानों के पूरे बकाया का भुगतान कर दिया है, लेकिन दो निजी चीनी मिलों ने अभी तक बकाया का भुगतान नहीं किया है और आप सरकार ने किसानों की बकाया राशि का भुगतान करने के लिए उनकी संपत्ति को जब्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.लखीमपुर खीरी में किसानों को न्याय नहीं देने के लिए बीजेपी पर निशाना साधते हुए कांग ने कहा कि चार किसानों और एक पत्रकार की हत्या की भयानक घटना के एक साल बाद भी किसान न्याय का इंतजार कर रहे हैं. उन्होंने गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त नहीं करने के लिए बीजेपी सरकार की आलोचना की क्योंकि उनके पुत्र आशीष मिश्रा मामले में मुख्य आरोपी थे. यहां तक ​​कि पीड़ितों को भी नौकरी नियुक्ति पत्र नहीं मिले हैं और किसानों से किए गए अन्य वादे अभी भी लंबित हैं.



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,587FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime