Thursday, December 8, 2022

BJP Ran Away After Seeing The Possibility Of Defeat In The Andheri Bypoll- Shiv Sena Uddhav Faction Attacked BJP – अंधेरी उपचुनाव में हार की संभावना देख कर भागी बीजेपी- शिवसेना उद्धव गुट का भाजपा पर हमला


'अंधेरी उपचुनाव में हार की संभावना देख कर भागी बीजेपी'- शिवसेना उद्धव गुट का भाजपा पर हमला

उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना गुट ने मंगलवार को दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अंधेरी पूर्व विधानसभा सीट से उम्मीदवार मुरजी पटेल ने यह देखते हुए नामांकन वापस लिया है कि उपचुनाव में उनकी हार तय है. ठाकरे गुट ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में दावा किया है कि ‘सुरक्षित मार्ग’ के बावजूद भाजपा को ‘शर्मिंदगी’ उठानी पड़ी. मराठी दैनिक के पहले पन्ने पर उपचुनाव पर लेख प्रकाशित है जिसका शीर्षक है, “अंधेरी से कमलाबाई भागी!” ठाकरे गुट ने भाजपा को ‘कमलाबाई’ बताया है, क्योंकि पार्टी का चुनाव चिन्ह कमल है.

यह भी पढ़ें

अंधेरी पूर्व सीट पर उपचुनाव तीन नवंबर को होगा. यहां से शिवसेना के विधायक रमेश लटके का इस साल की शुरुआत में निधन हो गया था. ठाकरे के नेतृत्व वाले शिवसेना गुट ने रमेश लटके की पत्नी ऋतुजा लटके को मैदान में उतारा है, जबकि भाजपा ने पटेल को उम्मीदवार बनाया था. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के नेता राज ठाकरे ने निर्विरोध चुनाव की वकालत की थी जिसके बाद भाजपा ने सोमवार को उपचुनाव से अपना उम्मीदवार हटा लिया

इसके बाद मुकाबले में सात उम्मीदवार रह गए हैं, लेकिन ऋतुजा लटके की जीत पक्की मानी जा रही है. ‘सामना’ के संपादकीय में कहा गया है, “(भाजपा) उम्मीदवार का नाम वापस लेना उतना आसान नहीं है, जितना दिखता है. पराजय हो गई तो शिंदे-फडणवीस सरकार को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी, यह उनके ध्यान में आया होगा. भाजपा को यह भी एहसास हो गया होगा कि शिवसेना (ठाकरे गुट) की जीत तय है.”

इसमें यह भी दावा किया गया है कि भाजपा उम्मीदवार के नामांकन पत्र में कई खामियां सामने आने के बाद उनका नामांकन पत्र रद्द होने का खतरा था. लेख के मुताबिक, “ (भाजपा-शिंदे गुट) की गाड़ी की इस खतरनाक मोड़ पर दुर्घटना होने वाली ही थी. इस खतरे से बाहर निकल सकें इसलिए अचानक गाड़ी को ब्रेक लगाकर भाजपा ने ‘यू टर्न’ ले लिया.” लेख में कहा गया है कि इसलिए भाजपा ने अपने उम्मीदवार को चुनावी मैदान से हटा लिया. लेख में ऋतुजा लटके के बृहन्मुंबई महानगरपालिका से इस्तीफे को स्वीकार करने में रूकावटें पैदा करने को लेकर भी राज्य सरकार की आलोचना की गई है.

ये भी पढ़ें-

IRCTC घोटाले मामले में तेजस्वी यादव को चेतावनी के साथ मिली राहत

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,601FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime