Saturday, November 26, 2022

Heart Attack Cases Are Increasing Rapidly At A Young Age, Know What Are Its Causes And How To Prevent It


दिल का दौरा, तब होता है जब हृदय में रक्त का प्रवाह आंशिक या पूरी तरह से रुक जाता है. जब हृदय को जरूरत के मुताबिक खून और ऑक्सीजन नहीं मिल पाता है, तो वह ठीक से पंप नहीं कर पाता है. दिल जितना अधिक समय तक पर्याप्त रक्त और ऑक्सीजन के बिना रहता है, उसकी मांसपेशियों को उतना ही अधिक नुकसान होता है.

हार्ट अटैक के लक्षण | Symptoms Of Heart Attack

  • सीने में दर्द या सीने में बेचैनी की भावना
  • सांस लेने में तकलीफ
  • हाथ, गर्दन, कंधे या जबड़े में दर्द
  • पसीना आना
  • चक्कर आना
  • थकान
  • जी मिचलाना
  • पीठ के ऊपरी हिस्से में दर्द

कम उम्र में हार्ट अटैक के कारण | Causes Of Heart Attack At A Young Age

युवाओं में धूम्रपान और अल्कोहल का सेवन करने से दिल के दौरे का खतरा रहता है, लेकिन ये एकमात्र कारण नहीं है. विशेष रूप से जोखिम कारक जो युवा लोगों में अधिक सामान्य होते जा रहे हैं, वो हैं.

सर्दियों में सुबह जल्दी नहीं खुलती आंख तो इन कारगर तरीकों को आजमाएं टाइम से पहले उठेंगे

  • मोटापा
  • प्रीडायबिटीज
  • डिस्लिपिडेमिया, या रक्त में लिपिड या फेट के असामान्य स्तर, जैसे एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स.
  • फैमिली हिस्ट्री
  • सुस्त जीवनशैली
  • व्यायाम न करना
  • सही नींद न लेना
  • गलत डाइट
  • हाई ब्लड प्रेशर

युवाओं में हार्ट अटैक को कैसे कम करें? | How To Reduce Heart Attack In Youth?

1) स्मोकिंग छोड़ें

तंबाकू के धुएं में मौजूद केमिकल आपके दिल के कार्य के साथ-साथ आपके रक्त वाहिकाओं की संरचना और काम को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं. इससे एथेरोस्क्लेरोसिस हो सकता है और दिल का दौरा पड़ने का खतरा बहुत बढ़ सकता है. तंबाकू छोड़ने से आपके दिल, फेफड़ों और अन्य सभी अंगों के स्वास्थ्य में भी सुधार हो सकता है.

sieuatv

धूम्रपान से दिल का दौरा पड़ने का खतरा बहुत बढ़ सकता है. Photo Credit: iStock

2) हाई कोलेस्ट्रॉल

उच्च कोलेस्ट्रॉल का स्तर, खासकर हाई एलडीएल कोलेस्ट्रॉल, दिल के दौरे के लिए एक उच्च जोखिम कारक है. अपने कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण रखकर आप दिल के दौरे से बच सकते हैं.

दिल और लंग्स दोनों को रखना है हेल्दी तो रोजाना करें ये आसान एक्सरसाइज

3) बीपी का रखें ध्यान

अगर आपका ब्लड प्रेशर हाई है, तो यह आपके दिल को काम करने में बाधा पैदा करता है. आप दवाओं और लाइफस्टाइल में बदलाव लाकर बीपी को कंट्रोल में रखें.

4) तनाव से रहें दूर

निरंतर तनाव हृदय रोग और दिल के दौरे के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक है. अगर आप अक्सर तनाव महसूस करते हैं, तो स्ट्रेस मैनेजमेंट के तकनीकों को खोजने का प्रयास करें.

लो ब्लड प्रेशर होने पर शरीर को हो सकते हैं ये नुकसान, जानें लक्षण, कारण और बचाव

5) एक्सरसाइज करें

हर दिन एक्सरसाइज करने की आदत डालें. दिन भर ज्यादा हिलने-डुलने और कम बैठने की कोशिश करें. इसके अलावा स्मोकिंग और शराब की आदतों को छोड़ें.

       

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Featured Video Of The Day

उत्तराखंड : ताजा बर्फबारी के बाद बर्फ से ढकीं बद्रीनाथ पर्वत की चोटियां



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,586FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime