Wednesday, November 30, 2022

Navratri 1st Day 2022: Today Is The First Day Of Navratri, Offer This Bhog Maa Shailputri


Navratri 1st Day 2022: आज है नवरात्रि का पहला दिन मां शैलपुत्री को लगाएं इस चीज का भोग

Navratri 1st Day 2022: हिंदू धर्म में नवरात्रि को बहुत ही पवित्र माना जाता है.

Shardiya Navratri Day 1: आज 26 सितंबर से मां दुर्गा की पूजा-अराधना का पर्व नवरात्रि प्रारंभ हो गया है. इस साल 26 सितंबर, सोमवार से शुरू होकर 4 अक्टूबर तक नवरात्र रहेंगे. हिंदू धर्म में नवरात्रि के पर्व का बहुत महत्व होता है. साल में कुल चार नवरात्रि आते हैं. लेकिन शारदीय नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि को ही धूम-धाम से मनाया जाता है. नवरात्रि पर मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है. नवरात्रि के पहले दिन यानी प्रतिपदा तिथि पर कलश स्थापना या घटस्थापना (Ghatasthapana 2022) की जाती है. मां दुर्गा को समर्पित नवरात्रि के त्योहार का विशेष महत्व है. नवरात्रि के पहले दिन मां दुर्गा के स्वरूप मां शैलपुत्री की पूजा का विधान है. कलश स्थापना के दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है. माता को लाल रंग के फूल चढ़ाए जाते हैं. और गाय के दूध और घी से बनी चीजों का भोग लगाया जाता है.

देवी शैलपुत्री पूजा और मंत्र विधि- (Mata Shailputri Pujan Vidhi Mantra)

यह भी पढ़ें

शैलपुत्री देवी दुर्गा के नौ रूप में पहले स्वरूप में जानी जाती हैं. ये ही नवदुर्गाओं में प्रथम दुर्गा हैं. पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री रूप में उत्पन्न होने के कारण इनका नाम ‘शैलपुत्री’ पड़ा. नवरात्र-पूजन में प्रथम दिन इन्हीं की पूजा और उपासना की जाती है. मां शैलपुत्री का वास काशी नगरी वाराणसी में माना जाता है. माना जाता है कि नवरात्र के पहले दिन यानि प्रतिपदा को जो भी भक्त मां शैलपुत्री के दर्शन करता है उसके सारे वैवाहिक जीवन के कष्ट दूर हो जाते हैं. माता की भक्ति से भक्त के सभी कष्ट दूर होते हैं. 

October 2022 Vrat And Festivals: दशहरा, दिवाली से लेकर छठ तक, अक्टूबर में पड़ने वाले व्रत और त्योहारों की पूरी लिस्ट यहां देखें

इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर साफ कपड़े धारण करें. इसके बाद मंदिर को अच्छे से साफ करें. मां को अक्षत, सिंदूर, धूप, गंध, पुष्प अर्पित करें. माता के मंत्रों का जप करें. घी से दीपक जलाएं. मां की आरती करें. शंखनाद करें. घंटी बजाएं. मां को प्रसाद अर्पित करें.

देवी शैलपुत्री भोग रेसिपी- (Mata Shailputri Bhog)

मां शैलपुत्री को गाय का घी अथवा उससे बने पदार्थों का भोग लगाया जाता है. माना जाता है कि मां दुर्गा को गाय के घी से बनी चीजों से अधिक लगाव है. इससे खुश होकर माता अपने भक्तों पर खास कृपा करती है. आप माता को गाय के घी से बने बादाम के हलवे का भोग लगा सकते हैं. पूरी रेसिपी के लिए क्लिक करें.  

Navratri Vrat Snacks: नवरात्रि व्रत में टी टाइम के लिए परफेक्ट हैं ये हेल्दी और टेस्टी खीरे के पकौड़े

6dudbb38

देवी शैलपुत्री मंत्रः (Mata Shailputri Mantra)

या देवी सर्वभूतेषु शैलपुत्री रूपेण संस्थिता

नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै नमो नम:

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,587FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime